व्यक्तिगत आवश्यकताओं जैसी कि शादी, पारिवारिक समारोह, ट्रैवल, घर की सजावट इत्यादि जैसी जरुरतों के लिए नियमत खर्च से अगल पैसों जरूरत होती है। हालांकि, आज के समय पैसों का इंतजाम करना कोई बहुत बड़ी समस्या नहीं है। पैसों का इंतजाम करने सा सबसे सरल और सुरक्षित तरीकों में से एक है पर्सनल लोन अप्लाई करना।

मार्केट में कई ऐसी कंपनियां हैं, जहां से तत्काल ऑनलाइन लोन बहुत ही आसानी से मिल जाता है। इन्हीं में से एक कंपनी का नाम LazyPay है। 

चूंकि ऑनलाइन लोन के रूप में ली गई राशि बड़ी होती है और लोन रिपेमेंट EMI में करना होता है। तो यह सीधे आवदेक के इनकम पर निर्भर हो जाती है। इसलिए, पर्सनल लोन अप्लाई करने से पूर्व EMI संबंधित सभी जांच – पड़ताल कर लेना आवश्यक होता है।

पर्सनल लोन EMI क्या है?

EMI का फुल फॉर्म Equated monthly instalments है। जिसे हिंदी भाषा में ‘मासिक किस्त’ कहते हैं। ईएमआई और सरल तरीके से समझने के लिए हम इसे इस तरह से भी कह सकते हैं कि हर महीने अपने – आप संबंधित व्यक्ति के बैंक खाता से कटने वाली रकम को ईएमआई कहा जाता है। 

इस तरह हम देखते हैं की EMI बहुत ही कारगर व्यवस्था है, उन सभी लोगों के लिए जिनकी इनकम इतनी अधिक नहीं होती है कि जो लोग बड़ी रकम की खरीददारी एक बार में नहीं कर सकते सकते हैं। EMI की सुविधा के कारण लोग अपनी पसंदीदा चीजों की खरीददारी बहुत आसानी से कर सकने में सक्षम बन पाते हैं।

EMI कैसे निर्धारित होती है? 

EMI कैलकुलेट कैसे होती है? यह एक ऐसा सवाल है जिसका उत्तर सभी लो जानना चाहते हैं। इसका उत्तर है – EMI ग्राहक और फाइनेंसियल कंपनी के आपसी सामंजस्य से तय की जाती है।  ईएमआई तय करते समय इस बात का ध्यान रखा जाता है कि ग्राहक को ईएमआई भरने में अधिक कठिनाई का सामना न करना पड़े।

व्यक्ति खुद से EMI कैलकुलेट कर सकता है 

कोई भी व्यक्ति चाहें तो अपने – आप ऑनलाइन तरीके से अपनी ईएमआई कैलकुलेट कर सकते हैं। इसके लिए EMI कैलकुलेटर का उपयोग कर सकता है। खुद से EMI कैलकुलेट करने से फायदा यह होता है कि इंसान खुद के हिसाब से अपने महीने की ईएमआई सेट सकता है। यह ग्राहकों की सुविधा को देखते हुए तैयार किया जाता है। आप देश की प्रमुख एनबीएफसी LazyPay की वेबसाइट से भी ईएमआई कैल्कुलेट कर सकते हैं।

पर्सनल लोन के लिए EMI कैलकुलेटर क्या है?​

जब आप पर्सनल लोन अप्लाई करने का निर्णय ले रहे हों, तो आपके दिमाग में लोन राशि और ऑनलाइन लोन के टेन्योर की क्लियरटी होना आवश्यक है। इस मामले में ऑनलाइन पर्सनल लोन कैलकुलेटर का उपयोग करने से आपको मदद मिलेगी।

EMI कैसे तय होती है?

ऑनलाइन लोन की EMI एक फ़ॉर्मूला से तय होती है। EMI कैलकुलेटर से EMI तय करने का सूत्र निम्न है:

EMI = [P x R x (1+R) ^ N] / [(1+R) ^ (N-1)]

सूत्र के संकेतों को समझिए

  • P का मतलब है मूलधन से है यानी वह राशि जो आप लोन के रुप में लेना चाहते हैं।
  • R का मतलब है लिए गए लोन पर ब्याज दरों से। ब्याज दर सालाना के हिसाब से दिखाया जायेगा लेकिन मंथली ईएमआई का पता लगाने के लिए या एक मासिक आंकड़े तक कम हो जाएगा।
  • N का मतलब आपके द्वारा चुकाने के लिए लगने वाले समय से है। इससे आपको यह पता लग सकता है कि आपको लोन के रुप में ली गई रकम को चुकाने के लिए कितना समय मिलेगा।

चूंकि उपरोक्त फॉर्मूले का उपयोग करके मैन्युअल रूप से अपनी मासिक ईएमआई राशि की गणना करना काफी बोझिल हो सकता है। इसीलिए, पर्सनल लोन कैलकुलेटर बनाए हैं, ये ऑनलाइन उपकरण हैं जो आपके लिए गणना करते हैं। आपको केवल अपनी ऑनलाइन लोन राशि, लोन अवधि और उस ब्याज दर को दर्ज करना है जिस पर आप उधार लेना चाहते हैं, और आपके द्वारा भुगतान किए जाने वाले कुल ब्याज के साथ आपकी ईएमआई प्रदर्शित होती है।

आपको पर्सनल लोन कैलकुलेटर EMI का उपयोग करने की आवश्यकता क्यों है?​

अपने आप को कठिन गणनाओं से बचाएं। वे दिन गए जब आप यह पता लगाने के लिए कागज और कलम का उपयोग करते थे कि आपका मासिक भुगतान कितना होगा। अब आप कुछ विवरण दर्ज करें और एंटर पर क्लिक करें। इतना करते ही पर्सनल लोन कैलकुलेटर द्वारा आपके लोन की किश्त बता दी जाती है।

Personel Sağlık

- SEO Ajansı